मलेशिया में पुलिस ने Bitcoin माइनिंग रिग को स्टीमरोलर से कुचला, देखें वायरल वीडियो

[ad_1]

amazon_apparels
amazon_computers

मलेशियाई पुलिस ने Bitcoin माइनिंग रिग को स्टीमरोलर से कुचल दिया, जिसका एक वीडियो अब YouTube पर वायरल हो गया है। पुलिस ने पिछले हफ्ते बिटकॉइन माइनर्स द्वारा अवैध रूप से इस्तेमाल किए गए एक हजार से अधिक इलेक्ट्रॉनिक रिग को स्टीमरोलर से कुचल दिया। तटीय सरवाक राज्य के मिरी शहर में अधिकारियों ने कथित तौर पर खनन कार्यों को चलाने के लिए बिजली चुराने वाले खनिकों से 1,069 रिग जब्त किए। उपकरणों को फरवरी और अप्रैल के बीच जब्त किया गया था और इनका अनुमानित मूल्य RM 5.3 मिलियन (लगभग 9.4 करोड़ रुपये) है।

कथित तौर पर चोरी की बिजली का उपयोग कर खनन गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया था। हालांकि, अधिकारियों ने यह उल्लेख नहीं किया कि पुलिस ने इतने नाटकीय तरीके से रिगों को नष्ट करने का फैसला क्यों किया, और किसी और चीज के लिए महंगे सिस्टम का उपयोग नहीं किया।

सरवाक में एक स्थानीय समाचार आउटलेट, Dayak Daily ने YouTube पर वीडियो अपलोड किया है जिसमें दिखाया गया है कि रिग्स को स्टीमरोल किया जा रहा है। नीचे दिया गया वीडियो देखें:

जैसा कि इस साल की शुरुआत में क्रिप्टोकरेंसी बाजार में उछाल आया इसने डिजिटल कॉइन के खनन में बड़े पैमाने पर ऊर्जा खपत पर ध्यान केंद्रित किया। ऊर्जा-गहन “प्रूफ-ऑफ-वर्क” प्रक्रिया, जिसके माध्यम से बिटकॉइन अर्जित/उत्पन्न होते हैं, में कंप्यूटर जटिल गणितीय समीकरणों को हल करने के लिए प्रतिस्पर्धा करते हैं। मूल्यवान क्रिप्टोकरेंसी की तलाश में प्रतिस्पर्धी तत्व को देखते हुए, शक्तिशाली माइनिंग रिग (माइनिंग रिवॉर्ड्स को अधिकतम करने के उद्देश्य से बनाए गए पीसी) क्रिप्टोकरेंसी माइनर्स द्वारा पसंद किए जाते हैं।

स्थानीय समाचार पत्र The Star ने बताया कि मलेशियाई शहर में कुल 1,069 बिटकॉइन माइनिंग रिग जब्त किए गए। जब्त किए गए सभी रिग का शुक्रवार, 16 जुलाई को मिरी जिला पुलिस मुख्यालय में “निपटान” किया गया था।

रिपोर्ट में कहा गया है कि बिटकॉइन खनिकों द्वारा बिजली चोरी के कारण सरवाक बिजली बोर्ड को RM 8.4 मिलियन (लगभग 14.89 करोड़ रुपये) का नुकसान हुआ। पुलिस प्रमुख ने The Star को बताया कि बिजली चोरी के आरोप में गिरफ्तार किए गए लोगों पर 8,000 RM (लगभग 1.41 लाख रुपये) तक का जुर्माना लगाया गया है और आठ महीने तक की जेल हुई है।

बिटकॉइन का खनन करने वाले क्षेत्रों में बिजली चोरी एक प्रमुख मुद्दा है क्योंकि कुछ खनिक क्रिप्टोकरेंसी खनन से बड़ा लाभ कमाने के लिए आवश्यक बिजली आपूर्ति को सुरक्षित करने के लिए अवैध साधनों का उपयोग करते हैं। बिजली के ग्रिड पर अतिरिक्त दबाव के कारण, अथॉरिटी को अक्सर लोड साझा करने का सहारा लेना पड़ता है जिसके परिणामस्वरूप नियमित रूप से आउटेज होता है।
20 जुलाई (दोपहर 2:36 बजे IST) तक भारत में बिटकॉइन की कीमत 22.23 लाख रुपये थी।

[ad_2]

amazon_electronics

amazon_health

Don’t forget to Follow “Freeapk4life.com” on Facebook, Twitter and Instagram to encourage us.

Source link


Buy Best Green Tea in India

best green tea

Leave a Comment