पेगासस स्पाईवेयर के जरिए भारत में नेताओं, पत्रकारों, बिजनेसमैन की जासूसी का दावा

रविवार को The Wire और अन्य पब्लिकेशन की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय मंत्रियों, विपक्षी नेताओं और पत्रकारों के फोन नंबर हैकिंग के लक्ष्य के डेटाबेस पर पाए गए हैं, जिसमें इजरायली स्पाइवेयर ‘पेगासस’ (Pegasus) का इस्तेमाल किया गया था – जो केवल सरकारों के लिए उपलब्ध है। रिपोर्ट में कहा गया है कि लीगल कम्युनिटी के मेंबर, बिज़नेसमैन, सरकारी अधिकारी, वैज्ञानिक, एक्टिविस्ट और अन्य भी 300 से अधिक वैरीफाइड भारतीय मोबाइल टेलीफोन नंबरों की इस सूची में हैं। The Wire के अनुसार डेटाबेस में लोगों की संख्या में 40 से…

क्या है Pegasus स्पाईवेयर और यह कैसे करता है काम? जानें इससे जुड़ी सभी जानकारी

पेगासस स्पाइवेयर (Pegasus spyware) इजरायली साइबर इंटेलिजेंस फर्म NSO ग्रुप द्वारा बनाया गया है, जो निगरानी रखने का काम करता है। कंपनी का दावा है कि इस फर्म का काम इसी तरह के जासूसी सॉफ्टवेयर बनाना है और इन्हें अपराध और आतंकवादी गतिविधियों को रोकने और लोगों के जीवन बचाने के एकमात्र उद्देश्य के लिए सरकारों की खुफिया एजेंसियों को बेचा जाता है। पेगासस एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो बिना सहमति के आपके फोन तक पहुंच हासिल करने और व्यक्तिगत और संवेदनशील जानकारी इकट्ठा कर जासूसी करने वाले यूज़र को…

मोबाइल फोन में इस टूल की मदद से पकड़ा जाता है जासूसी करने वाला Pegasus सॉफ्टवेयर

इजरायल स्थित NSO ग्रुप के पेगासस (Pegasus) स्पाइवेयर ने कथित तौर पर भारत सहित अन्य कई देशों में सरकारों को हजारों कार्यकर्ताओं, पत्रकारों और राजनेताओं के फोन हैक करने में मदद की थी। समाचार आउटलेट्स के एक अंतरराष्ट्रीय संघ ने पिछले कुछ दिनों में टार्गेट के बारे में कुछ जानकारी दी है। हालांकि, पेगासस के जरिए लक्षित हमलों के दायरे को अभी तक परिभाषित नहीं किया गया है। इस बीच, एमनेस्टी इंटरनेशनल के शोधकर्ताओं ने एक डिवाइस विकसित किया है, जिससे आप देख सकते हैं कि आपका फोन स्पाइवेयर द्वारा…